गूगल क्या है और Google में कौन से उत्पाद सबसे अच्छे हैं?

  • Post author:
  • Reading time:9 mins read
5/5 - (1 vote)

Google एक बहुराष्ट्रीय प्रौद्योगिकी कंपनी है जिसकी स्थापना 1998 में Larry Page और Sergey Brin द्वारा की गई थी जब वे Ph.D. कैलिफोर्निया में स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के छात्र थे। यह कंपनी इंटरनेट से संबंधित सेवाओं और उत्पादों जैसे सर्च इंजन, ऑनलाइन विज्ञापन तकनीकों, क्लाउड कंप्यूटिंग, सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर में माहिर है।

Google का प्रमुख उत्पाद Google खोज है, जो दुनिया का सबसे व्यापक रूप से उपयोग किया जाने वाला खोज इंजन है। Google खोज प्रासंगिकता के क्रम में वेब पेजों को रैंक करने के लिए एल्गोरिदम का उपयोग करता है। Google कई अन्य सेवाएँ भी प्रदान करता है जैसे Google मानचित्र, Google ड्राइव, YouTube, Gmail और Google कैलेंडर।

Google का विज्ञापन राजस्व मुख्य रूप से ऐडवर्ड्स से आता है, एक ऑनलाइन विज्ञापन सेवा जो विज्ञापन को खोज परिणामों की सूची के पास रखती है। Google अपनी स्थापना के बाद से महत्वपूर्ण रूप से बढ़ा है, और अब यह व्यक्तियों और व्यवसायों के लिए उत्पादों और सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है।

अपने खोज और विज्ञापन व्यवसायों के अलावा, Google अन्य तकनीकी उपक्रमों जैसे स्व-ड्राइविंग कार, होम ऑटोमेशन और आभासी वास्तविकता में भी शामिल रहा है। 2015 में, Google ने खुद को एक सहायक कंपनी के रूप में Google के साथ Alphabet Inc. नामक एक होल्डिंग कंपनी के रूप में पुनर्गठित किया।

इस पोस्ट में मुख्य विषय

गूगल क्यों बनाया गया?

Google को इंटरनेट पर जानकारी खोजने का एक बेहतर तरीका प्रदान करने के लिए बनाया गया था। उस समय, मौजूदा सर्च इंजन जैसे अल्टाविस्टा और याहू! बड़ी संख्या में अप्रासंगिक परिणाम लौटाए और इंटरनेट पर बड़ी मात्रा में सामग्री को प्रभावी ढंग से छाँटने में असमर्थ रहे।

Google के सह-संस्थापक लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन ने एक नया एल्गोरिद्म विकसित किया जिसे पेजरैंक कहा जाता है। पेजरैंक ने वेब पेजों की प्रासंगिकता और महत्व का मूल्यांकन करने के लिए एक गणितीय सूत्र का उपयोग किया, और यह अधिक सटीक और प्रासंगिक खोज परिणाम लौटाने में सक्षम था।

Google को आधिकारिक तौर पर सितंबर 1998 में लॉन्च किया गया था और इसने अधिक प्रासंगिक खोज परिणाम प्रदान करने की क्षमता के कारण तेजी से लोकप्रियता हासिल की। तब से कंपनी का काफी विकास हुआ है और अब केवल खोज से परे उत्पादों और सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करती है, जैसे ईमेल, क्लाउड स्टोरेज, ऑनलाइन विज्ञापन, और बहुत कुछ।

कंपनी का मिशन वक्तव्य “दुनिया की जानकारी को व्यवस्थित करना और इसे सार्वभौमिक रूप से सुलभ और उपयोगी बनाना” है, और इस लक्ष्य को बेहतर ढंग से प्राप्त करने के लिए Google ने अपनी खोज तकनीक में सुधार करना जारी रखा है।

गूगल क्या है और Google में कौन से उत्पाद सबसे अच्छे हैं?
गूगल क्या है और Google में कौन से उत्पाद सबसे अच्छे हैं?

Google में कौन से उत्पाद सबसे अच्छे हैं?

Google उत्पादों और सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है, जिनमें से कई अत्यधिक लोकप्रिय और प्रसिद्ध हैं। Google द्वारा पेश किए जाने वाले कुछ सबसे लोकप्रिय और प्रसिद्ध उत्पादों में शामिल हैं:

(1) गूगल खोज (Google Search):

Google का प्रमुख उत्पाद और दुनिया का सबसे व्यापक रूप से उपयोग किया जाने वाला खोज इंजन। Google खोज प्रासंगिकता के क्रम में वेब पेजों को रैंक करने के लिए एल्गोरिदम का उपयोग करता है, जिससे यह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खोज इंजनों में से एक बन जाता है।

Google खोज कैसे काम करता है?

Google खोज किसी दिए गए खोज क्वेरी के लिए सबसे अधिक प्रासंगिक परिणाम वापस करने के लिए वेब पेजों की प्रासंगिकता और महत्व का मूल्यांकन करने के लिए एक जटिल एल्गोरिद्म का उपयोग करके काम करता है। एल्गोरिथ्म कारकों की एक विस्तृत श्रृंखला को ध्यान में रखता है, जिसमें खोज क्वेरी में प्रयुक्त शब्द, वेब पेजों की प्रासंगिकता और विश्वसनीयता, और वेबसाइटों की लोकप्रियता और अधिकार शामिल हैं।

यहां एक सामान्य अवलोकन दिया गया है कि Google खोज एल्गोरिद्म कैसे काम करता है:

रेंगना (Crawling):

Google के वेब क्रॉलर, जिन्हें स्पाइडर के रूप में भी जाना जाता है, इंटरनेट को स्कैन करते हैं और नए पेज खोजने के लिए एक वेब पेज से दूसरे तक लिंक का अनुसरण करते हैं। क्रॉलर पृष्ठों के बारे में जानकारी एकत्र करते हैं, जैसे पाठ, चित्र और पृष्ठ पर लिंक, और इसे Google अनुक्रमणिका में जोड़ते हैं।

अनुक्रमण (Indexing):

एक बार क्रॉलर द्वारा एक पेज खोजे जाने के बाद, इसे Google इंडेक्स में जोड़ दिया जाता है, जो उन सभी वेब पेजों का एक विशाल डेटाबेस है, जिनके बारे में Google जानता है। जब उपयोगकर्ता कोई खोज करते हैं तो अनुक्रमणिका का उपयोग खोज परिणाम प्रस्तुत करने के लिए किया जाता है।

रैंकिंग (Ranking):

जब कोई उपयोगकर्ता कोई खोज करता है, तो Google एल्गोरिद्म अनुक्रमणिका में पृष्ठों का मूल्यांकन करता है ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि उन्हें खोज परिणामों में किस क्रम में प्रदर्शित होना चाहिए। एल्गोरिथ्म सैकड़ों रैंकिंग कारकों या संकेतों को ध्यान में रखता है, जैसे सामग्री की प्रासंगिकता, पृष्ठ की लोकप्रियता और उपयोगकर्ता का स्थान और खोज इतिहास।

सर्विंग परिणाम (Serving Results):

एल्गोरिथ्म तब उपयोगकर्ता को सबसे अधिक प्रासंगिक परिणाम देता है, जिसमें सबसे अधिक प्रासंगिक पृष्ठ खोज परिणामों के शीर्ष पर दिखाई देते हैं। उपयोगकर्ता को अधिक प्रासंगिक और उपयोगी जानकारी प्रदान करने के लिए, Google नॉलेज ग्राफ़ जैसी विभिन्न तकनीकों का भी उपयोग करता है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि Google का एल्गोरिदम लगातार विकसित और सुधार कर रहा है, और कंपनी ने खोज परिणामों और उपयोगकर्ता अनुभव को बेहतर बनाने के लिए पिछले कुछ वर्षों में महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं।

(2) गूगल मैप्स (Google Maps):

एक लोकप्रिय वेब मैपिंग सेवा जो विस्तृत मानचित्र, सड़क दृश्य और उपग्रह इमेजरी के साथ-साथ रीयल-टाइम ट्रैफ़िक अपडेट और मोड़-दर-मोड़ नेविगेशन प्रदान करती है।

गूगल मैप्स कैसे काम करता है?

Google मानचित्र एक वेब मानचित्रण सेवा है जो विस्तृत मानचित्र, सड़क दृश्य, और उपग्रह इमेजरी, साथ ही रीयल-टाइम ट्रैफ़िक अपडेट और मोड़-दर-मोड़ नेविगेशन प्रदान करती है। Google मानचित्र कैसे काम करता है इसका एक सामान्य अवलोकन यहां दिया गया है:

डेटा संग्रहण (Data Collection):

Google मानचित्र अपने नक्शे और जानकारी प्रदान करने के लिए विभिन्न प्रकार के डेटा स्रोतों पर निर्भर करता है, जिसमें हवाई और उपग्रह इमेजरी, सड़क-स्तरीय फ़ोटो और उपयोगकर्ता-जनित सामग्री शामिल हैं। डेटा एकत्र करने के लिए Google अपनी स्वयं की स्ट्रीट व्यू कारों के संयोजन का उपयोग करता है, जिन पर कैमरे लगे होते हैं, और मैपमेकर और स्ट्रीट व्यू के माध्यम से उपयोगकर्ता-जनित तस्वीरें होती हैं।

डाटा प्रासेसिंग (Data Processing):

एक बार डेटा एकत्र हो जाने के बाद, इसे विस्तृत मानचित्र और जानकारी बनाने के लिए संसाधित और व्यवस्थित किया जाता है। इसमें नयनाभिराम दृश्य बनाने के लिए छवियों को एक साथ सिलाई करना, धुंधलापन और विकृति को दूर करना और छवियों को जियोलोकेट करना शामिल है।

मानचित्र निर्माण (Map Creation):

संसाधित डेटा का उपयोग Google मानचित्र वेबसाइट और मोबाइल एप्लिकेशन पर प्रदर्शित होने वाले मानचित्र बनाने के लिए किया जाता है। नक्शे सड़कों, इमारतों, पार्कों और अन्य स्थलों के साथ-साथ व्यवसायों को उनके संबंधित पते और फोन नंबर के साथ दिखाते हैं।

नेविगेशन और रूटिंग (Navigation and Routing):

Google मानचित्र कार, चलने और सार्वजनिक परिवहन दिशाओं के लिए मोड़-दर-मोड़ नेविगेशन और रूटिंग भी प्रदान करता है। यह सबसे कुशल मार्ग और अनुमानित आगमन समय प्रदान करने के लिए रीयल-टाइम ट्रैफ़िक डेटा का उपयोग करता है।

अन्य सुविधाओं (Other features):

Google मानचित्र सड़क दृश्य जैसी अतिरिक्त सुविधाएँ भी प्रदान करता है, जो उपयोगकर्ताओं को कुछ क्षेत्रों की सड़क-स्तरीय इमेजरी और उपग्रह दृश्य का पता लगाने की अनुमति देता है, जो अंतरिक्ष से पृथ्वी की विस्तृत इमेजरी प्रदान करता है। यह व्यवसायों के बारे में जानकारी भी प्रदान करता है, जैसे समीक्षाएँ, रेटिंग और फ़ोटो, और उपयोगकर्ता अपनी स्वयं की समीक्षा और रेटिंग भी जोड़ सकते हैं।

नक्शे लगातार नए डेटा के साथ अपडेट होते रहते हैं, और Google लगातार अपने नक्शों को बेहतर बनाने और नई सुविधाओं को जोड़ने के तरीकों पर काम कर रहा है।

(3) जीमेल (Gmail):

1.5 बिलियन से अधिक सक्रिय उपयोगकर्ताओं के साथ एक निःशुल्क, वेब-आधारित ईमेल सेवा। जीमेल स्पैम फ़िल्टरिंग, खोज और अन्य Google सेवाओं के साथ एकीकरण जैसी कई सुविधाएँ प्रदान करता है।

जीमेल कैसे काम कर सकता है?

Gmail Google द्वारा प्रदान की जाने वाली एक मुफ़्त, वेब-आधारित ईमेल सेवा है। यह उपयोगकर्ताओं को ईमेल भेजने और प्राप्त करने की अनुमति देता है, और यह स्पैम फ़िल्टरिंग, खोज और अन्य Google सेवाओं के साथ एकीकरण जैसी कई सुविधाएँ भी प्रदान करता है। जीमेल कैसे काम करता है इसका एक सामान्य अवलोकन यहां दिया गया है:

साइन अप करें (Sign Up):

जीमेल का इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स को सबसे पहले जीमेल वेबसाइट पर फ्री अकाउंट के लिए साइन अप करना होगा। इसके लिए एक मान्य ईमेल पता प्रदान करने और एक पासवर्ड बनाने की आवश्यकता होती है।

ईमेल भेजना और प्राप्त करना (Sending and Receiving Emails):

एक बार खाता बन जाने के बाद, उपयोगकर्ता Gmail इंटरफ़ेस का उपयोग करके ईमेल भेज और प्राप्त कर सकते हैं। उपयोगकर्ता नए ईमेल लिख सकते हैं, मौजूदा ईमेल का जवाब दे सकते हैं और अन्य लोगों को ईमेल अग्रेषित कर सकते हैं।

स्पैम फ़िल्टरिंग (Spam Filtering):

Gmail अवांछित या संभावित रूप से खतरनाक ईमेल को इनबॉक्स से पहचानने और निकालने के लिए उन्नत स्पैम फ़िल्टरिंग तकनीक का उपयोग करता है। स्पैम ईमेल “स्पैम” नामक एक अलग फ़ोल्डर में भेजे जाते हैं और इन्हें हटाया जा सकता है या स्पैम नहीं के रूप में चिह्नित किया जा सकता है।

खोज (Search):

जीमेल एक शक्तिशाली खोज सुविधा प्रदान करता है जो उपयोगकर्ताओं को कीवर्ड, प्रेषक या अन्य मानदंडों के आधार पर विशिष्ट ईमेल को तुरंत खोजने की अनुमति देता है।

लेबल और फ़िल्टर (Labels and Filters):

जीमेल उपयोगकर्ताओं को लेबल और फिल्टर का उपयोग करके अपने ईमेल व्यवस्थित करने की अनुमति देता है। लेबल फ़ोल्डर की तरह होते हैं, और उपयोगकर्ता अपने ईमेल को वर्गीकृत करने के लिए स्वयं के लेबल बना सकते हैं। फ़िल्टर स्वचालित रूप से आने वाले ईमेल को कुछ मानदंडों के आधार पर विशिष्ट लेबल में सॉर्ट करते हैं।

अन्य Google सेवाओं के साथ एकीकरण (Integration with other Google services):

Gmail अन्य Google सेवाओं जैसे Google ड्राइव और Google कैलेंडर के साथ एकीकृत होता है, जिससे उपयोगकर्ता फ़ाइलों को आसानी से साझा और एक्सेस कर सकते हैं, अपॉइंटमेंट और ईवेंट शेड्यूल कर सकते हैं, और बहुत कुछ।

मोबाइल और ऑफलाइन पहुंच (Mobile and offline access):

जीमेल को एक कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस पर इंटरनेट कनेक्शन के साथ एक्सेस किया जा सकता है, और यह ईमेल को ऑफलाइन एक्सेस भी प्रदान करता है और जीमेल ऑफलाइन क्रोम एक्सटेंशन के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है।

सुरक्षा (Security):

जीमेल उपयोगकर्ताओं के ईमेल की सुरक्षा के लिए उद्योग-मानक एन्क्रिप्शन का उपयोग करता है और यह सुनिश्चित करने के लिए द्वि-चरणीय सत्यापन भी प्रदान करता है कि केवल अधिकृत उपयोगकर्ता ही खाते तक पहुंच सकते हैं।

जीमेल को लगातार नई सुविधाओं और सुधारों के साथ अपडेट किया जा रहा है, और Google सेवा को बेहतर बनाने और इसे और अधिक उपयोगकर्ता के अनुकूल बनाने के तरीकों पर लगातार काम कर रहा है।

(4) गूगल ड्राइव (Google Drive):

एक क्लाउड स्टोरेज सेवा जो उपयोगकर्ताओं को फ़ाइलों और दस्तावेज़ों को कहीं से भी स्टोर करने, साझा करने और एक्सेस करने की अनुमति देती है।

गूगल ड्राइव कैसे काम करता है?

Google ड्राइव Google द्वारा प्रदान की जाने वाली क्लाउड स्टोरेज सेवा है जो उपयोगकर्ताओं को फ़ाइलों और दस्तावेज़ों को कहीं से भी संग्रहीत, साझा और एक्सेस करने की अनुमति देती है। Google ड्राइव कैसे काम करता है इसका एक सामान्य अवलोकन यहां दिया गया है:

साइन अप करें (Sign Up):

Google ड्राइव का उपयोग करने के लिए, उपयोगकर्ताओं को पहले Google खाते के लिए साइन अप करना होगा, जो मुफ़्त है। एक बार खाता बन जाने के बाद, उपयोगकर्ता वेब या मोबाइल ऐप के माध्यम से Google डिस्क तक पहुंच सकते हैं।

फ़ाइल अपलोड करना (File Uploading):

उपयोगकर्ता वेब इंटरफ़ेस का उपयोग करके या मोबाइल ऐप का उपयोग करके Google ड्राइव पर फ़ाइलें अपलोड कर सकते हैं। वे फ़ाइलों को अपने कंप्यूटर पर Google ड्राइव फ़ोल्डर में खींचकर और छोड़ कर भी अपलोड कर सकते हैं।

फ़ाइल साझा करना (File sharing):

Google ड्राइव उपयोगकर्ताओं को एक अद्वितीय लिंक बनाकर या फ़ाइलों को देखने या संपादित करने के लिए दूसरों को आमंत्रित करके फ़ाइलों और फ़ोल्डरों को अन्य लोगों के साथ साझा करने की अनुमति देता है। साझा फ़ाइलों को एक साथ कई उपयोगकर्ताओं द्वारा एक्सेस किया जा सकता है, और एक उपयोगकर्ता द्वारा किए गए परिवर्तन सभी उपयोगकर्ताओं के लिए रीयल-टाइम में दिखाई देंगे।

फ़ोल्डर संरचना (Folder structure):

Google ड्राइव उपयोगकर्ताओं को फ़ाइलों को फ़ोल्डरों में व्यवस्थित करने की अनुमति देता है, और उपयोगकर्ता अपनी फ़ाइलों को और व्यवस्थित करने के लिए सबफ़ोल्डर भी बना सकते हैं।

खोज (Search):

Google ड्राइव एक शक्तिशाली खोज सुविधा प्रदान करता है जो उपयोगकर्ताओं को कीवर्ड, फ़ाइल प्रकार, या अन्य मानदंडों के आधार पर विशिष्ट फ़ाइलों को शीघ्रता से खोजने की अनुमति देता है।

फ़ाइल संस्करण (File versioning):

Google डिस्क किसी फ़ाइल में किए गए सभी परिवर्तनों का रिकॉर्ड रखता है, इसलिए उपयोगकर्ता आवश्यकता पड़ने पर फ़ाइल के पिछले संस्करण पर वापस जा सकते हैं।

ऑफ़लाइन पहुँच (Offline access):

उपयोगकर्ता Google ड्राइव ऑफ़लाइन क्रोम एक्सटेंशन का उपयोग करके ऑफ़लाइन होने पर भी अपनी फ़ाइलों को Google ड्राइव पर एक्सेस कर सकते हैं।

सुरक्षा (Security):

Google ड्राइव उपयोगकर्ताओं की फ़ाइलों की सुरक्षा के लिए उद्योग-मानक एन्क्रिप्शन का उपयोग करता है, और यह सुनिश्चित करने के लिए द्वि-चरणीय सत्यापन भी प्रदान करता है कि केवल अधिकृत उपयोगकर्ता ही खाते तक पहुंच सकते हैं।

Google ड्राइव को लगातार नई सुविधाओं और सुधारों के साथ अपडेट किया जा रहा है, और Google सेवा को बेहतर बनाने और इसे और अधिक उपयोगकर्ता के अनुकूल बनाने के तरीकों पर लगातार काम कर रहा है।

(5) यूट्यूब (YouTube):

2 अरब से अधिक मासिक सक्रिय उपयोगकर्ताओं वाला एक लोकप्रिय वीडियो-साझाकरण प्लेटफ़ॉर्म। YouTube संगीत वीडियो से लेकर शैक्षिक सामग्री तक सामग्री की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है, और कई लोगों के लिए मनोरंजन और जानकारी का एक प्रमुख स्रोत बन गया है।

यूट्यूब कैसे काम करता है?

YouTube एक वीडियो-साझाकरण प्लेटफ़ॉर्म है जो उपयोगकर्ताओं को वीडियो अपलोड करने, देखने और साझा करने की अनुमति देता है। YouTube कैसे काम करता है, इसका एक सामान्य अवलोकन यहां दिया गया है:

साइन अप करें (Sign Up):

YouTube का उपयोग करने के लिए, उपयोगकर्ताओं को पहले एक Google खाते के लिए साइन अप करना होगा, जो मुफ़्त है। एक बार खाता बन जाने के बाद, उपयोगकर्ता YouTube तक पहुंच सकते हैं और वीडियो अपलोड करना प्रारंभ कर सकते हैं।

वीडियो अपलोडिंग (Video Uploading):

उपयोगकर्ता वेब इंटरफ़ेस का उपयोग करके या मोबाइल ऐप का उपयोग करके YouTube पर वीडियो अपलोड कर सकते हैं। वे YouTube के मूल वीडियो संपादन टूल जैसे ट्रिमिंग, कैप्शन जोड़ना और संगीत जोड़ना के साथ वीडियो संपादित भी कर सकते हैं।

वीडियो साझा करना (Video Sharing):

उपयोगकर्ता एक अद्वितीय लिंक बनाकर या अन्य वेबसाइटों पर वीडियो एम्बेड करके YouTube पर अपने वीडियो साझा कर सकते हैं। वीडियो को अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी साझा किया जा सकता है।

वीडियो डिस्कवरी (Video Discovery):

YouTube उपयोगकर्ताओं को इसकी खोज सुविधा, अनुशंसित वीडियो और चैनलों की विशाल लाइब्रेरी के माध्यम से नए वीडियो खोजने की अनुमति देता है।

मुद्रीकरण (Monetization):

YouTube उपयोगकर्ताओं को YouTube सहयोगी कार्यक्रम के माध्यम से अपने वीडियो का मुद्रीकरण करने की अनुमति देता है, जो उपयोगकर्ताओं को उनके वीडियो, प्रायोजन और अन्य प्रकार के राजस्व पर प्रदर्शित विज्ञापनों से पैसे कमाने की अनुमति देता है।

टिप्पणी और रेटिंग (Commenting and rating):

YouTube उपयोगकर्ताओं को वीडियो पर टिप्पणियां और रेटिंग देने की अनुमति देता है, जिससे उन्हें जुड़ाव और प्रतिक्रिया के लिए एक मंच मिलता है।

यूट्यूब स्टूडियो (YouTube Studio):

YouTube YouTube स्टूडियो नामक एक सुविधा प्रदान करता है, जो रचनाकारों के लिए अपने चैनल का प्रबंधन करने, विश्लेषण की जांच करने और कैप्शन, कार्ड और एंड स्क्रीन बनाने जैसी अतिरिक्त सुविधाओं तक पहुंचने का एक उपकरण है।

सामग्री मॉडरेशन (Content Moderation):

YouTube के पास अपने सामुदायिक दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने वाली सामग्री, जैसे अभद्र भाषा, हिंसा और अन्य अनुचित सामग्री की समीक्षा करने और उसे हटाने के लिए एक प्रणाली है।

YouTube को नई सुविधाओं और सुधारों के साथ लगातार अपडेट किया जा रहा है, और Google सेवा को बेहतर बनाने और इसे और अधिक उपयोगकर्ता के अनुकूल बनाने के तरीकों पर लगातार काम कर रहा है।

(6) गूगल क्रोम (Google Chrome):

एक लोकप्रिय वेब ब्राउज़र जो तेज़, सुरक्षित और उपयोग में आसान है।

गूगल क्रोम कैसे काम करता है?

Google Chrome एक वेब ब्राउज़र है जो उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट एक्सेस करने और वेब पेज देखने की अनुमति देता है। क्रोम कैसे काम करता है इसका एक सामान्य अवलोकन यहां दिया गया है:

स्थापना (Installation):

Google Chrome को कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस पर डाउनलोड और इंस्टॉल किया जा सकता है। एक बार इंस्टॉल हो जाने पर, उपयोगकर्ता ब्राउज़र लॉन्च कर सकते हैं और वेब ब्राउज़ करना प्रारंभ कर सकते हैं।

मार्गदर्शन (Navigation):

उपयोगकर्ता पता बार में URL दर्ज करके या खोज करने के लिए खोज बार का उपयोग करके Chrome का उपयोग करके वेब नेविगेट कर सकते हैं। पृष्ठों के बीच आसानी से आगे और पीछे जाने के लिए क्रोम में एक बैक और फॉरवर्ड बटन भी है।

टैब्स (Tabs):

क्रोम उपयोगकर्ताओं को टैब का उपयोग करके एक ही समय में कई वेब पेज खोलने की अनुमति देता है। उपयोगकर्ता टैब पर क्लिक करके या कीबोर्ड शॉर्टकट का उपयोग करके उनके बीच स्विच कर सकते हैं।

बुकमार्क (Bookmarks):

क्रोम उपयोगकर्ताओं को बाद में आसान पहुंच के लिए अपनी पसंदीदा वेबसाइटों को बुकमार्क के रूप में सहेजने की अनुमति देता है। उपयोगकर्ता अपने बुकमार्क व्यवस्थित करने के लिए फ़ोल्डर भी बना सकते हैं।

एक्सटेंशन (Extensions):

क्रोम उपयोगकर्ताओं को एक्सटेंशन जोड़ने की अनुमति देता है, जो कि छोटे सॉफ्टवेयर प्रोग्राम हैं जो ब्राउज़र में नई सुविधाएँ जोड़ते हैं। इनमें ब्राउजिंग अनुभव को बढ़ाने के लिए एड ब्लॉकर्स, पासवर्ड मैनेजर और अन्य टूल्स जैसी चीजें शामिल हैं।

इंकॉग्निटो मोड (Incognito Mode):

क्रोम उपयोगकर्ताओं को गुप्त मोड में वेब ब्राउज़ करने की अनुमति देता है, जो किसी भी ब्राउज़िंग इतिहास, कुकीज या फॉर्म डेटा को सहेजता नहीं है। यह ब्राउजिंग को निजी रखने या साझा उपकरणों का उपयोग करने के लिए उपयोगी है।

सिंकिंग (Syncing):

क्रोम उपयोगकर्ताओं को Google खाते से साइन इन करके अपने ब्राउज़िंग डेटा को बुकमार्क, इतिहास और खुले टैब जैसे कई उपकरणों में सिंक करने की अनुमति देता है।

सुरक्षा (Security):

क्रोम उपयोगकर्ताओं के ब्राउज़िंग डेटा की सुरक्षा के लिए उद्योग-मानक एन्क्रिप्शन का उपयोग करता है और इसमें मैलवेयर, फ़िशिंग और अन्य ऑनलाइन खतरों से सुरक्षा के लिए अंतर्निहित सुरक्षा सुविधाएँ भी हैं।

Google Chrome को लगातार नई सुविधाओं और सुधारों के साथ अपडेट किया जा रहा है, और Google ब्राउज़र को बेहतर बनाने और इसे और अधिक उपयोगकर्ता के अनुकूल बनाने के तरीकों पर लगातार काम कर रहा है।

(7) गूगल असिस्टेंट (Google Assistant):

एक आभासी सहायक जिसका उपयोग स्मार्टफोन, स्मार्ट स्पीकर और अन्य उपकरणों पर संगीत चलाने, रिमाइंडर सेट करने और सवालों के जवाब देने जैसे कार्यों को करने के लिए किया जा सकता है।

गूगल असिस्टेंट कैसे काम करता है?

Google सहायक एक आभासी सहायक है जिसका उपयोग स्मार्टफोन, स्मार्ट स्पीकर और अन्य उपकरणों पर किया जा सकता है, जैसे कि संगीत बजाना, रिमाइंडर सेट करना और सवालों के जवाब देना। Google सहायक कैसे काम करता है इसका एक सामान्य अवलोकन यहां दिया गया है:

सक्रियण (Activation):

Google Assistant को “Ok Google” या “Hey Google” कहकर या स्मार्ट स्पीकर के बटन को दबाकर या स्मार्टफोन के होम बटन को दबाकर सक्रिय किया जा सकता है।

प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण (Natural Language Processing):

उपयोगकर्ता के मौखिक या लिखित अनुरोधों को समझने के लिए Google सहायक प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण (एनएलपी) का उपयोग करता है। एनएलपी सहायक को उपयोगकर्ता के शब्दों के पीछे की मंशा को समझने की अनुमति देता है, बजाय उन्हें केवल कीवर्ड के सेट के रूप में समझने की।

मशीन लर्निंग (Machine Learning):

Google Assistant समय के साथ उपयोगकर्ता के अनुरोधों की अपनी समझ को बेहतर बनाने के लिए मशीन लर्निंग का उपयोग करती है। यह अधिक सटीक और वैयक्तिकृत प्रतिक्रिया प्रदान करने के लिए उपयोगकर्ता के पिछले इंटरैक्शन, स्थान और अन्य जानकारी को ध्यान में रखता है।

डेटाबेस (Database):

प्रश्नों के उत्तर देने और कार्यों को पूरा करने के लिए, Google सहायक जानकारी के एक विशाल डेटाबेस तक पहुँचता है, जैसे कि ज्ञान का ग्राफ। नॉलेज ग्राफ़ एक डेटाबेस है जिसमें लोगों, स्थानों और चीज़ों के बारे में अरबों तथ्य शामिल हैं।

अन्य सेवाओं के साथ एकीकरण (Integration with other services):

Google सहायक अतिरिक्त कार्यक्षमता और जानकारी प्रदान करने के लिए Google कैलेंडर, Google मानचित्र और Google अनुवाद जैसी अन्य Google सेवाओं के साथ भी सहभागिता कर सकता है।

ये Google द्वारा पेश किए जाने वाले कुछ सबसे लोकप्रिय और सुविचारित उत्पाद हैं, लेकिन कंपनी कई और सेवाएँ और उपकरण प्रदान करती है जो उपयोगकर्ताओं द्वारा अत्यधिक मूल्यवान हैं।

A 1 internet

यह वेबसाइट से हम आप के साथ इंटरनेट और कम्प्युटर नेटवर्किंग के साथ साथ सोशियल मीडिया, वेब एप्लिकेशन और स्मार्टफोन से जुड़ी बातों को साझा करना चाहते है। मै अमरीश कुमार हूँ, मैं एक कंप्यूटर हार्डवेयर और नेटवर्किंग पेशेवर हूँ। मैंने अब तक जो कुछ भी सीखा है और अनुभव किया है, वह सभी मैं इस वेबसाइट के माध्यम से आपके साथ साझा करना चाहूंगा।

Leave a Reply